abhivainjana


Click here for Myspace Layouts

Followers

Saturday, 1 July 2017

यश गान हो


फूलों से मुस्काता उद्यान हो

प्रेम का जहाँ मधु रस पान हो

न मज़हब की कही बात हो

 धर्म हर इंसान का इंसान हो

 लिख दूँ लहू से वो गीत अमर

जिस पर माँ तुझे अभिमान हो

 हर हाथ में फहराएं पंचम तेरा

हर तरफ़ तेरा ही यश गान हो

             जय हिंद


         म कनेरी

13 comments:

  1. ऐसा ही हो ईश्वर हमें जोड़े रखे | राष्ट्र को जोड़े रखे |

    ReplyDelete
  2. आभार मोनिका जी

    ReplyDelete
  3. बहुत ही सुंदर, प्रार्थना जैसा गीत, शुभकामनाएं.
    #हिंदी_ब्लागिँग में नया जोश भरने के लिये आपका सादर आभार
    रामराम
    ०५०

    ReplyDelete
  4. अन्तर्राष्ट्रीय ब्लोगर्स डे की शुभकामनायें ..... हिन्दी ब्लॉग दिवस का हैशटैग है #हिन्दी_ब्लॉगिंग .... पोस्ट लिखें या टिपण्णी , टैग अवश्य करें ......

    ReplyDelete
  5. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (02-07-2016) को "ब्लॉगिंग से नाता जोड़ो" (चर्चा अंक-2653) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  6. बहुत ही शानदार .........यात्रा कहीं से शुरू हो वापसी घर पर ही होती है :)#हिंदी_ब्लोगिंग

    ReplyDelete
  7. न मज़हब की कही बात हो
    धर्म हर इंसान का इंसान हो
    लिख दूँ लहू से वो गीत अमर
    जिस पर माँ तुझे अभिमान हो
    .. बहुत सही ..

    ReplyDelete
  8. वाह बहुत सुंदर

    शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  9. अद्भुत हैं आपकी रचनाएं , बधाई !
    हिन्दी ब्लॉगिंग में आपका योगदान सराहनीय है , आप लिख रही हैं क्योंकि आपके पास भावनाएं और मजबूत अभिव्यक्ति है , इस आत्म अभिव्यक्ति से जो संतुष्टि मिलेगी वह सैकड़ों तालियों से अधिक होगी !
    मानती हैं न ?
    मंगलकामनाएं आपको !
    #हिन्दी_ब्लॉगिंग

    ReplyDelete
  10. ....लाज़वाब पंक्तियाँ बहुत ही शानदार

    ReplyDelete
  11. बहुत सुंदर अभिव्यक्ति।

    ReplyDelete
  12. यही तो चाहिये हम सब को मन की बात कह दी आपने ..

    ReplyDelete